Latest News

★ भारतीय स्टेट बैंक में अटूट योजना ★*

     *~ ATOOT Scheme In SBI ~*

 

*सेवा में रहते कर्मी के आकस्मिक देहावसान पर परिवार को तत्काल सहायता देने का प्रावधान*

            *हमारा बैंक मानव संसाधन पर पहल करने, मानव संसाधन नीतियों, सर्वोत्तम साधनों तथा कर्मचारी हितैषी उपायों के कई पहलुओं पर उद्योग के लिए केंद्र बिंदु स्थापित करने में अग्रणी रहा है ।*

               *बैंक के किसी कर्मचारी के आकस्मिक देहावसान पर  शोक संतप्त परिवार को तत्काल सहारा दिए जाने की आवश्यकता होती है जो वित्तीय सहायता के साथ-साथ अंतिम संस्कार/ अंत्येष्टि के साथ यह भी कि मृतक कर्मचारी के पार्थिव शरीर का परिवहन किया जाना इत्यादि ।*

           *बैंक में  अधिवार्षिकी लाभो (पेंशन, भविष्य निधि, उपादान) के अलावा बैंक द्वारा एक्स ग्रेशिया का प्रावधान (इसमें ₹ 1 लाख के एक्स ग्रेशिया के अग्रिम भुगतान का प्रावधान किया गया है) अनुकंपा नियुक्ति (योजना में पात्र होने पर) नगद क्षतिपूर्ति (सेवा पर दुर्घटना से मृत्यु  होने के प्रकरण में) इत्यादि । तथापि, यह लाभ प्रभावित परिवार को मिलने में समय लेते हैं ।*

          *तदनुसार, अपने कर्मियों के साथ दीर्घकालीन संबंधों को मजबूत करने एवं उनमें अपनेपन की यह भावना पैदा करने के लिए कि  बैंक अपने कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों की देखभाल करने के लिए प्रतिबद्ध है जबकि वे सेवा में है या पश्चात भी, सेवा में रहते हुए कर्मचारी की मृत्यु पर परिवार को तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए एक योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया है ।*

 

*1.उद्देश्य*

 *सेवा में रहते किसी कर्मी के देहावसान पर उसके परिवार को तत्काल सहायता देना ।*

 

*2. योजना की सीमा*

*!. यह योजना बैंक के सभी स्थाई कर्मचारियों पर सभी संवर्गों के लिए लागू होगी, वे कर्मचारी जो मोबाइल सेवा में, प्रतिनियुक्ति पर  संविदा आधार पर नियुक्त किए गए हो, साथ ही निलंबित कर्मचारी भी इस योजना में सम्मिलित रहेंगे ।*

*!!. सेवानिवृत्त कर्मी इस योजना में सम्मिलित नहीं है, सेवानिवृत्त अधिकारी जो संविदा आधार पर सेवा दे रहे हैं, अधिकारी जो नियम 19(3) के अंतर्गत सेवानिवृत्त हुए हैं, बाहरी एजेंसी के कर्मचारी इस योजना में सम्मिलित नहीं है ।*

 

*3.सहायता की प्रकृति*

*!. अंतिम संस्कार के लिए वित्तीय सहायता* 

*₹ 20,000 (नगद) दिवंगत कर्मचारी के निकटतम संबंधी (NOK) को ।*

*योजना के अंतर्गत निकटतम संबंधी (NOK) की परिभाषा में कर्मचारी के निकटतम जीवित रक्त संबंधी विशेषतः जो आश्रित हो या व्यक्ति जो दिवंगत का अंतिम संस्कार करेंगे जैसे पत्नी/पति,बच्चे, पालक, भाई, बहन आदि, उपरोक्त क्रम में ।*

 

*टीप:-*

*1.किसी कर्मचारी के देहावसान पर, शाखा/कार्यालय का प्रतिनिधि उक्त स्थल पर जहां कर्मचारी पदस्थ था जाकर परिवार से मिलेगा तथा उन्हें सहायता स्वरूप निर्दिष्ट रकम नगद में दिवंगत कर्मचारी के निकटतम सम्बन्धी (NOK) को सौपेगा ।*

*2.जहां तक सम्भव हो सके नगद रकम अंत्येष्टि के पूर्व दी जाएगी, रकम जारी करने के लिए किसी तरह के मृत्यु प्रमाण पत्र  की आवश्यकता नही है, और परिवार के सदस्यों से रकम प्राप्ति की कोई रसीद भी नही लेना है,*

 

*!!.  जब देहावसान अन्य स्थल पर हुआ हो उक्त प्रकरण में सहायता, मृतक कर्मचारी के पार्थिव शरीर के परिवहन तथा अन्य संबंधित लागत बैंक के व्यय पर निर्दिष्ट किए गए हैं :-*

   *पात्र प्रकरणों में मृतक कर्मचारी के नश्वर शरीर का परिवहन बैंक के व्यय से निम्न सीमा तक निर्धारित किए गए हैं।*

 

 *सहायता की प्रकृति एवं व्यय की सीमा*

 

*एंबुलेंस पर व्यय*

 

*₹15000 (हवाई मार्ग से परिवहन)*

*₹15000 (सड़क मार्ग से परिवहन)*

*(नगर निगम सीमा के बाहर से)*

 

 *ताबूत की कीमत*

 

*₹ 10000 (हवाई मार्ग से परिवहन)* 

*₹ निरंक- (सड़क मार्ग से परिवहन)*

 

*साथ जाने वाले व्यक्ति को यात्रा व्यय(TA) की प्रतिपूर्ति :-*

 

*मृतक कर्मचारी के नश्वर शरीर को साथ लाने के लिए परिवार के किसी एक सदस्य को एयर/ स्ट्रीमर/ रेल या सड़क मार्ग से देहावसान स्थल तक यात्रा व्यय स्वीकृत किया जा सकेगा ।* *उपरोक्त व्यय जहां आवश्यक होगा वही स्वीकृत किया जाएगा ।*

*व्यय की स्वीकृति वास्तविक देयक/ रसीद प्रस्तुत करने पर की जाएगी इस व्यय पर लगने वाले वस्तु सेवा कर (GST) तथा अन्य करों (Taxes) का वहन बैंक द्वारा किया जाएगा।*

*एयर द्वारा परिवहन तभी मान्य किया जाएगा जब देहावसान स्थल 300 किलोमीटर से ज्यादा दूरी पर होगा ।*

*• उपरोक्त व्यय की प्रतिपूर्ति /भुगतान मृतक के निकटतम संबंधी(NOK) को यदि उसने वह किया है तो, को किया जाएगा अथवा इसका भुगतान बैंक द्वारा इस कार्य के लिए निर्दिष्ट अधिकारी को किया जाएगा ।* 

*• संबंधित शाखा विभाग कार्यालय प्रमुख को उपरोक्त व्यय के स्वीकृति  की पात्रता रहेगी ।*

 

*3. गैर वित्तीय सहायता*

 

             *बैंक द्वारा मृतक कर्मचारी के परिवार को हर संभव सहायता देने के उद्देश्य से निम्नांकित रूपरेखा बनाई गई है :-*

 

*1- अगर परिवार के सदस्य स्थानीय निवासी नहीं है तो उनके ठहरने हेतु बैंक का विश्राम गृह/अवकाश गृह आदि की प्राथमिकता से व्यवस्था की जाए ।*

*2- जब तक निकटतम संबंधी नहीं आ जाते तब तक मृतक के पार्थिव शरीर को शवगृह में संरक्षित रखने की उचित व्यवस्था की जाए ।*

*3- पार्थिव शरीर के प्रक्रमण संसाधन एवं परिवहन हेतु आवश्यक प्रबंध किए जाएं ।*

*4- अगर निकटतम संबंधी मृतक के पार्थिव शरीर को किसी अन्य स्थल (जो मृतक का पैतृक स्थान या जन्म स्थान या जहां उसके परिवार के सदस्य रहते हो वहां) ले जाने के इच्छुक हो तो वहां प्रक्रमण संसाधन एवं परिवहन के आवश्यक प्रबंध किए जाएं ।*

*5- पंजीकृत चिकित्सक से मृत्यु प्रमाण पत्र, पुलिस को सूचना, पोस्टमार्टम/पोस्टमार्टम रिपोर्ट, स्थानीय पुलिस से प्रथम सूचना रिपोर्ट(FIR) की प्रतिलिपि, विस्तृत पुलिस अन्वेषण प्रति, पंचनामा समीक्षा, स्थल का पंचनामा आदि की प्राप्ति में जहां यह आवश्यक हो सहायता करना ।*

*6- जहां आवश्यक हो वहां एक स्टाफ सदस्य को मृतक कर्मी के पार्थिव शरीर के साथ अंतिम क्रिया स्थल तक प्रतिनियुक्त किया जाए जो अंतिम संस्कार संपन्न होने के उपरांत ही वापस आ सकेगा।*

 

*e परिपत्र क्रमांक CDO/P&HD-PM/54/2019-20 दिनांक 13 नवम्बर 2019*

 

● 11वा वेतन समझौता ● 

 

             ◆   UFBU एवं IBA के मध्य   ◆

 

              ~ वार्ता की तिथि में परिवर्तन ~

 

★ अब 18 अक्टूबर 2019 को द्विपक्षीय वार्ता ★

 

◆ वार्ता के पूर्व 14 अक्टूबर को UFBU की मीटिंग ◆

 

                बैंकिंग सेक्टर के कर्मियों हेतु 11वे द्विपक्षीय वेतन पुनरीक्षण समझौते के लिए वार्ता का अगला दौर जो मंगलवार, 15 अक्टूबर 2019 को संम्पन्न होने वाला था, उसकी तिथि में परिवर्तन किया गया है वार्ता अब शुक्रवार 18 अक्टूबर 2019 को संम्पन्न होगी ।

            स्मरणीय है कि भारतीय बैंक संघ (IBA) एवं यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (UFBU) के मध्य वार्ता के लिए भारतीय बैंक संघ (IBA) ने अपने मुम्बई स्थित कार्यालय में सभी 9 घटक संघो को आमंत्रित करते हुए यू.एफ.बी.यु. संयोजक कॉमरेड संजीव बन्दलिश को तत्सम्बन्धी पत्र प्रेषित किया था ।

              आगामी 18 अक्टूबर 2019 को होने वाली वार्ता में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (UFBU) एवं भारतीय बैंक संघ (IBA) के मध्य वेतनमान में आगे और बढ़ोतरी पर बात हो सकती है गौरतलब है कि दिनांक 17  सितम्बर 2019 की द्विपक्षीय वार्ता में भारतीय बैंक संघ (IBA) के 12% बढ़ोतरी प्रस्ताव को यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (UFBU) ने अस्वीकार किया था, द्विपक्षीय वार्ता में स्केल 7 तक के अधिकारियों को सम्मिलित करने के मेंडेट (Mandate) सम्बन्धी मुद्दे, 5 दिवसीय बैंकिंग प्रणाली के साथ ही 1 अक्टूबर 2019 को भारतीय बैंक संघ (IBA) द्वारा बैंक कर्मियों को तदर्थ भुगतान (Ad-hoc Payment) सम्बन्धी जारी किए गए एकतरफा आदेश  पर हंगामेदार बहस होने की सम्भावना है।

            उल्लेखनीय है कि भारतीय बैंक संघ (IBA) से वार्ता के पूर्व सोमवार, दिनांक 14 अक्टूबर 2019 को यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (UFBU) के सभी घटक संघों की मीटिंग आयोजित की गई है जिसमें वार्ता में अपनाई जाने वाली रणनीति पर विस्तृत विचार विमर्श किया जाएगा ।

16th  Nov, 2019

Ms. Sujatha Jada    BODKI VB
Shri. Chand Sharma    INDUSTRIAL FINANACE INDORE
Shri. Sunil Sharma    KANCHAN BAGH
Shri. Prem Narayan Namdeo    MADAN MAHAL JABALPUR
Shri. Shamsher Bahadur Thapa    INDORE
Shri. Prakash Dhanraj Kakde    SAUSAR
Shri. Devanand Jashanlal Gudware    A.D.B BARELI
Shri. Darshan Singh Rana    RAJENDRA MARG MAHIDPUR
Shri. Sandeep Mahajan    NEW SHANTI NAGAR RAIPUR
Ms. Sheetal Anil Kumar Hirve    ONKARESHWAR
Ms. Dipali Malaviya    M.A.C.T. BHOPAL
Shri. Tikendra Kumar Dewangan    SUKMA
Shri. Manmohan Prasad    KANKER
Ms. Deepti Gupta    RBO-2 GWALIOR
Ms. Renuka Kujur    VIP ESTATE RAIPUR
Ms. Punam Kumari    INDU CHOWK, BILASPUR
Shri. Hemant Kumar Lodha    RBO-4 GUNA
Ms. Shruti Sharma    ZONAL OFFICE, INDORE (HR SECTION)
Shri. Ashish Avidhan Jawanjal    PATHAKHERA
Shri. Rajat Sahu    PATHARIA
Ms. Shweta Agrawal    RBO-4 GUNA
Ms. Anjali Pesswani    JEHANGIRABAD BHOPAL
Shri. Aakash Biswas    KAWARDHA

Shri. Arun Bhagoliwal

(General Secretary)

Dear Comrades.

The Trade Union Movement was created by people standing up together for fair wages, safe workplace, benefits, pension plan, and decent work hours. Many of the benefits and standards won for our members are enjoyed by all workers today, such as minimum wage, health and safety regulations, and overtime, etc. We as Union are a progressive and inclusive force for fairness, equality and justice in our workplaces and communities. Now as always, we are driven by our mission to make life better for our members and all SBI workers across the states of Madhya Pradesh and Chhattisgarh.

In this current scenario we find that in every organisation or association the individuals are depended on the electronic gadgets for acquiring knowledge and reference. In spite of providing all the current affairs of the bank by publishing various news letters, circulars and magazines, I found that the membership of our Union is expecting all the instructions and calls by way of different electronic platforms. 

So I started contacting the members through whatsapp, SMS, facebook and e-mails. This effort of the Union was lacking in providing the messages in details, so we thought to launch our Union's website. By doing so we are confident that now our membership will easily access in detail, to all the duties they have to perform in the bank and know the service conditions through which they are governed. Moving ahead hand in hand with the electronic age the Union had tried to provide in its website all the relevant material its membership will require. Adding to all the requesities a very special feature for raising the queries and their solutions by the union has been added to this website to keep the membership on tips and to resolve any of their difficulties or problems. We hope that our effort to provide this facility along with other beneficial details in this site will make the members of the union more knowledgeable and competent to deal with any situation in their job in the bank.

Our union listens to its members, provides outstanding union representation and negotiates strong contracts. Learn more about the many benefits our union offers on our website. Hear what members have to say and what difference SBIASEU Bhopal Circle is making in their lives.
As a SBIASEU member, you have a voice at work and the power to shape your future. Strong member participation is the key to strong negotiations. Connect with your union representative. Learn about your rights. Attend union meetings and events

One thing which I would like to convey to my membership is that though we are trying placing everything at their doorstep and making them easily accessible, but they should not forget that to fight for their legitimate demands and to get what they want for their comfortable and respectable livelihood they have to come on the road. They have to unitedly and with solidarity, struggle for their demands and continue to raise their voice and slogans at appropriate forums from time to time as per the requirement and call of the union. There should always be 100% participation of the members in all the trade union activities.

Whether you are a new or long-service member, I encourage you to visit our website regularly to find out about the latest union news and learn about upcoming events. I hope the members will maximize the use of this site for their references as well give their useful and meaningful suggestions for improvement and provide regular feedback to help us in updating the details in this website along with keeping you all apprised of the current scenario at the circle and all India level.

Truly yours

Shri. Rajat Mohan Verma

(Union President)

Dear friends,

Welcome to the online home of SBIASEU Bhopal Circle.

Check out our Contacts  section for information on connecting with your union representatives,

Download and Circulars section for refusing unsafe work,

Union Bipartite Settlement section for protecting your rights and much more. You can also sign up to receive our monthly news-blast like Samachar Saar, or follow our General Secretary on social media (Facebook, SMS and Whatsapp). 


Having a Union on your side makes your job and workplace safer and fairer. You get paid better and are more likely to have benefits that help you balance work with life at home. Your health and ability to do your job become important and your right for fair treatment gets enforced.

It is our mission that this website will provide you with information, services, and resources for all our members.We encourage you to visit our online sit regularly to find out about the latest Union news and upcoming events. As a member, you have the responsibility to stay connected, attend monthly meetings and events. Together, let us build a fairer workplace!

The More You Put in, the More You Get Back

Unions demonstrate the power of collective action. When workers join together, they gain the clout to get better wages and benefits, safe workplaces, world-class training and improved working conditions. On our own, we can’t make any of these gains.
No individual staffer can get much done without members who stand together in solidarity and who are willing to do whatever it takes to achieve their goals. And if you only have the time to attend the meetings of your Local Union, that’s making a vital contribution, too. And if not, by contrast, doing nothing weakens our union.

Think of it this way: Being a union member is a little like joining a health club. You can pay your health club fees, but if you don’t show up and work out, you’re not going to lose weight. Similarly, you can pay your union dues, but if you don’t bother to get active and involved, your union won’t be as strong as it could or should be. Unions don’t operate on autopilot. They have to be driven by members. SBIASEU Bhopal Circle is your union. The more you put in, the more you’ll get back!

Please take out some time to explore our website and if you have any comments about this website and some queries, please connect with us under the Queries section of the website. Finally, if you have any questions or concerns about work, please don't hesitate to reach out to our union representatives. We are ready and happy to help you.

With all good wishes.

PHOTO GALLERY

Query Now